गुरुवार, अक्तूबर 30, 2008

हिन्दी भाषा भौतिकी.

हम जानतें हैं की भौतिकी की कई शाखाएँ उनके गुणों और उपयोगों के आधार पर नामांकित की गयी हैं.जैसे नाभिकीय भौतिकी,आण्विक भौतिकी.भवन ध्वानिकी ,आदि। हिन्दी बोलने पर जो ध्वनी निकलती है,वह उसके अक्षर के अनुरूप है.अक्षर और ध्वनी का संबध निश्चित है.हिन्दी भाषा एक वैज्ञानिक,व्यवस्थित,अक्षरानुरूप ध्वनी तरंगे उत्पन्न करने वाली भाषा है.भारत मैं बोली और लिखी जाने वाली भाषाएँ और बोलियाँ हिन्दी से सम्बंधित हैं.यदि हिन्दी अक्षरों की बनावट से मिलती,जुलती मिटटी,धातु,चीन मित्तिया प्लास्टर आफ पेरिस की प्रतिक्रतियां बनाई जाय और उनमे हिन्दी अक्षरों की ध्वनी प्रवाहित की जाय तो एक नई शाखा विकसित होगी.भौतिकी की इस नयी शाखा का नाम होगा;"हिन्दी भाषा भौतिकी"या हिन्दी भाषा ध्वनिकी", हमारे देश के वैज्ञानिक प्रखर,प्रज्ञावान और मितव्ययी हैं.आय.पी.अल.क्रिकेट लीग के मेच मैं जितना खर्चा होता है उसके १०प्रतिशत व्यय मैं चंद्रयान सफलता पूर्वक छोड़ दिया गया.यदि इन्हे 'हिन्दीभाषा भौतिकी"या हिन्दी ध्वनिकी को विकसित करने का जिम्मा चेतावनी के रूप मैं दे दिया जे तो हिन्दी को लोकप्रियता का दर्जा दिलवा देंगे। हिन्दी मैं न केवल भारतीय भाषा बन्ने का मदद है बल्कि वह अन्तार्रशात्रिय भाषा बन जायेगी.हिन्दी वैसे ही सरल,सहज वैज्ञानिक,और बोधगम्य भाषा है। देश की सभी भाषाओँ की तुलना मैं जब यह सहज समाज ली जायेगी तो सुविधा की द्रस्ती से पुरा देश इसे अपना लेगा.भाषाई झगडें अपने आप समाप्त हो जायेंगे.हमारे नेता नौकरशाह हिन्दी मैं सोचना आरम्भ कर देंगे । तो आइये हम विचार करें भौतिक शास्त्र की एक नयी शाखा पर 'हिन्दीभाषा भौतिकी ',या हिन्दी ध्वनिकी पर.हमारे मित्रों,भौतिकी केप्राध्यापकों ,वाद्द्य्यंत्रों के निर्माताओं ,से इस संभावनाओं पर प्रश्न करें । और सहभागी बने एक सरल,सुगम,सहज.वज्ञानिक भाषा के विकास के महायज्ञं मैं.

4 टिप्‍पणियां:

कविता वाचक्नवी ने कहा…

आपका ब्लॊग देखा, अच्छा लगा। विशेषत: साहित्य से इतर विषयों को हिन्दी लेखन में स्थान देना। आप को आमन्त्रण दे रही हँ एक अत्यन्त सक्रिय यहू समूह हिन्दीभारत से जुड़ने का। आपका ऐसा लेखन (विशेषत: भौतिकी, अर्थ,विज्ञान आदि को हिन्दी में लाने वाला)एक बड़े मंच पर आए तो एक सार्थक प्रयास को बल मिले। समूह का लिंक है- http://in.groups.yahoo.com/group/HINDI-BHARAT/

इस लिंक को यहाँ से कॊपी पेस्ट कर के समूह तक पहुँच सकते हैं, या फिर मेरे किसी भी ब्ळोग पर लगे समूह से जुड़ने वाले फ़ॊर्म की सहायता से भी यह सम्भव है। बस आपका आईडी यहू का प्रयोग हो तो अधिक अच्चा होगा, आप समूह की अन्य सुविधाओं का भी लाभ ले सकेंगे। स्वागत कर हर्ष होगा।

Suresh Chandra Karmarkar ने कहा…

respected kvitajee ,thanks for your comments. Basically i am a student of physics.for a longer span i taught physics. after retirement as a principal,reemployed as a principal. less skilled in net surfing . i will try to join the group,serving for hindi.even i can not write comment in hindi here.sorry.Again thanks .

कविता वाचक्नवी ने कहा…

uttar ke lie dhanyavaad. aap ke vishay mein jaan kar achchha laga.

aap ka id mere paas hota to main svayam bhi aap ko invite bhej sakti thee, ya add kar sakti thi.

aap ka group se judna humein achchha lagegaa.

raviratlami ने कहा…

कविता जी, करमरकर सर का ईमेल पता है -
sureshchandra.karmarkar एट gmail.com