सोमवार, नवंबर 14, 2011

kamran aklam ki salaah.

पाकिस्तान के क्रिकेटर कामरान अकलम ने सलाह दी है की क्रिकेट खिलाडियों के बैंक खातोंकी जाँच हर छछ माह में होनी चाहिए.ता की स्पोट फिक्सिंग और मेच फिक्सिंग की जाँच हो सके. मई कामरान अकलम को धन्यवाद देता हूँ.उनकी सलाह ने एक नया रास्ता बता दिया है. इस सलाह को आगे विस्तृत करते हुए मैं भारत और पाकिस्तान की सरकारों से हाथ जोड़कर निवेदन करता हूँ की केवल खिलाडी ही नहीं बल्कि प्रत्येक सांसद,विधायक और प्रथम श्रेणी अधिकारी से यह नेक कम करवाया जाय/ इतना ही नहीं इन महाशयों से हर वर्ष आय सम्बन्धी शपथ पात्र भी भरवाया जाय जिस के द्वारा यह मालूम हो सके की इन महाशय की आय का ग्राफ कब कब ऊँचा गया.अन्ना जी के बिल से जब प्रभाव पड़ना हो पड़ेगा ,किन्तु बैंक खातो की जानकारी और शपथ पत्र से फरक जरूर पड़ेगा./

1 टिप्पणी:

Ravishankar Shrivastava ने कहा…

खातों की ही क्यों, इनके खुद के घरों, निकट संबंधियों मित्रों के घरों इत्यादि की भी तलाशी ली जानी चाहिए.